Press "Enter" to skip to content

विधानसभा चुनाव 2023 से पहले पश्चिमी राजस्थान का मूड भांपने पहुंचे सतीश पूनिया, बोले- पूर्ण बहुमत से बनेगी सरकार

बाड़मेर. राजस्थान में अगले साल विधानसभा चुनाव होने हैं. भाजपा और कांग्रेस दोनों दलों ने इसकी तैयारी तेज कर दी है. भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनिया भी पश्चिमी राजस्थान के दौरे पर गए हैं. पश्चिमी राजस्थान के दौरे पर पूनिया लगातार भाजपा कार्यकर्ताओं की समीक्षा बैठक ले रहे हैं. पूनिया के इस दौरे के सियासी मायने यह लगाए जा रहे हैं कि पूनिया पश्चिमी राजस्थान की नब्ज टटोलने गए हैं. अपने दौरे के दौरान पूनिया ने प्रेसवार्ता कर कांग्रेस सरकार पर जमकर निशाना साधा. उन्होंने कहा कि बेरोजगारी, कानून व्यवस्था, भ्रष्टाचार एवं कर्जमाफी यह प्रभावी मुद्दे हैं जिससे जनता में आक्रोश है और यह सरकार को बदलने के लिए काफी है.

फिर से बहुमत से सत्ता में आएगी भाजपा

भाजपा अपने संगठनों की खूबियों के आधार पर सत्ता में आएगी. इस दौरान ने कहा कि 19 विधानसभा ऐसी हैं, जहां वे नहीं जीत पाए. वहीं 48 विधानसभा ऐसी है जहां कभी जीते या एक बार ही जीत पाए. इसको लेकर पार्टी के पदाधिकारीयों द्वारा विधानसभा प्रभारी लगाए जाएंगे जो इनकी पूरी मॉनिटरिंग करेंगे. आगामी साल 2023 में भारतीय जनता पार्टी पूर्ण बहुमत के साथ आएगी. इस दौरान उन्होंने गहलोत सरकार पर जमकर निशाना साधते हुए कहा कि गहलोत हॉर्स ट्रेंडिंग की बात करते हैं लेकिन उन्होंने तो 6 हाथी जीम लिए. 6 बीएसपी के विधायकों को अपने कब्जे में कर बहुमत का दावा किया था. उन्होंने कहा कि अस्थिरता के दौरान क्या डील हुई यह पर्दे के पीछे हैं और कांग्रेस सरकार ने अपनी सरकार को बचाने के लिए यह हथकंडे अपनाए थे.

राजनीति में रिटायरमेंट की एज होनी चाहिए 70 साल

इसके साथ ही उन्होंने कहा कि राजनीति में सेवानिवृति की उम्र 70 साल तय होने से नई पीढ़ी तैयार करनी चाहिए. पूनिया ने कहा कि मैं 70 साल की उम्र के बाद चुनाव लड़ने की राजनीति से दूर हो जाऊंगा. पूनिया ने कहा कि तय उम्र के बाद बुजुर्गों को मार्गदर्शन करना चाहिए.

उन्होंने कहा कि मैंने इस पर काम शुरू कर दिया है. प्रदेश में ऐसे नेताओं की सूची तैयार की जा रही है, जिन्होंने 70 साल की उम्र पूरी कर ली है. पूनिया ने कहा कि भारतीय जनसंघ के विचारक नानाजी देशमुख ने राजनीति में सेवानिवृति की उम्र 65 होने की बात कही थी. लेकिन 70 तो होनी ही चाहिए. उन्होंने कह कि चुनाव की राजनीति में युवाओं को आगे लाया जाना चाहिए. प्रदेश में युवाओं को संगठन से जोड़ने का काम तेजी से चल रहा है. नई पीढ़ी आएगी तो संगठन का ज्यादा विस्तार होगा.

Tags: Barmer news, Rajasthan news

More from Brief NewsMore posts in Brief News »
More from राजस्थानMore posts in राजस्थान »
Mission News Theme by Compete Themes.