Press "Enter" to skip to content

'श्रवण' बनकर बेटे ने पूरी की 100 वर्षीय मां की इच्छा, कांवड़ से करवाई लोहागर्ल की यात्रा

उगम कंवर की ये यात्रा 25 घंटे में पूरी हुई. पोते पृथ्वी सिंह ने बताया कि तीर्थ स्नान के बाद वे शनिवार शाम पांच बजे दादी को लेकर लोहागर्ल से गांव के लिए रवाना हुए थे. रुक रुककर चलते हुए उन्होंने रविवार शाम साढ़े छह बजे गांव के शिव मंदिर पहुंचकर यात्रा पूरी की. इस दौरान उगम कंवर के पोते प्रेम सिंह, मोहन सिंह, पृत्वी सिंह, जीवराज सिंह, महिपाल सिंह, कुलदीप सिंह, सुगम सिंह, भैरूं, सिंह, मंागू सिंह व रतन खीचड़, पोती सोनिया, पूजा, अंकिता, शयन्ति कंवर, भतीजी सरदार कंवर यात्रा में सहयोगी रहे.

More from Brief NewsMore posts in Brief News »
More from राजस्थानMore posts in राजस्थान »
Mission News Theme by Compete Themes.