Press "Enter" to skip to content

LIC IPO पर रिटेल निवेशकों ने दिखाया ज्यादा जोश, 6.9 करोड़ शेयरों के लिए मिलीं 7.2 करोड़ से अधिक बोलियां

LIC IPO पर रिटेल निवेशकों ने दिखाया ज्यादा जोश, 6.9 करोड़ शेयरों के लिए मिलीं 7.2 करोड़ से अधिक बोलियां

LIC IPO में रिटेल निवेशकों का पोर्शन पूरी तरह से बुक. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

नई दिल्ली:

सार्वजनिक क्षेत्र की भारतीय जीवन बीमा निगम (एलआईसी) के आरंभिक सार्वजनिक निर्गम (आईपीओ) के खुदरा हिस्से को बोली के तीसरे दिन शुक्रवार को पहले ही घंटे में शत-प्रतिशत अभिदान मिल गया. शेयर बाजारों पर शुक्रवार सुबह 11 बजकर 36 मिनट तक के आंकड़ों के मुताबिक खुदरा निवेशकों के लिए आरक्षित 6.9 करोड़ शेयर की श्रेणी में 7.2 करोड़ से अधिक बोलियां मिलीं. इस तरह इस श्रेणी को पूरा अभिदान मिला है.

यह भी पढ़ें

वहीं, पात्र संस्थागत खरीदारों (क्यूआईबी) और गैर-संस्थागत खरीदारों वाले हिस्से के लिए अबतक कुछ खास प्रतिक्रिया नहीं मिली है. क्यूआईबी वाले हिस्से को 40 प्रतिशत और गैर-संस्थागत खरीदारों के हिस्से को 50 प्रतिशत अभिदान मिला.

वहीं पॉलिसीधारकों वाले हिस्से को तीन गुना से अधिक अभिदान मिला, जबकि कर्मचारियों के लिए आरक्षित हिस्से को करीब ढाई गुना अभिदान प्राप्त हुआ.

ये भी पढ़ें : SBI कस्टमर अलर्ट! LIC के IPO में SBI YONO ऐप के जरिए भी कर सकते हैं निवेश, जानें कैसे

कुल मिलाकर आईपीओ के 16,20,78,067 निर्गम के लिये 17,98,42,980 बोलियां प्राप्त हुईं.

कंपनी का आईपीओ बुधवार को खुदरा और संस्थागत निवेशकों के लिए खुला और यह नौ मई को बंद होगा.

सरकार को एलआईसी के आईपीओ से 21,000 करोड़ रुपये जुटने की उम्मीद है. वह एलआईसी में अपनी 3.5 प्रतिशत हिस्सेदारी बेच रही है. आईपीओ के लिए मूल्य दायरा 902 से 949 रुपये प्रति शेयर तय किया गया है.

यह आईपीओ बिक्री पेशकश (ओएफएस) के रूप में है और इसके जरिये सरकार 22.13 करोड़ शेयर बेचना चाहती है. कंपनी के शेयर 17 मई को सूचीबद्ध हो सकते हैं.

Video : LIC IPO को लेकर कांग्रेस नेता रणदीप सुरजेवाला ने केंद्र सरकार की मंशा पर उठाए सवाल

(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

More from BusinessMore posts in Business »

Be First to Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Mission News Theme by Compete Themes.