Press "Enter" to skip to content

Red Moon: चंद्र ग्रहण पर दिखाई देगा लाल रंग का चांद, जानें इस Lunar Eclipse से जुड़ी सभी जरूरी बातें यहां

Red Moon: चंद्र ग्रहण पर दिखाई देगा लाल रंग का चांद, जानें इस Lunar Eclipse से जुड़ी सभी जरूरी बातें यहां

Red Moon 2022: लाल रंग का नजर आएगा चंद्र ग्रहण. 

Total Lunar Eclipse: जल्द ही साल 2022 का पहला चंद्र ग्रहण लगने वाला है. बता दें कि बीते 30 अप्रैल के दिन साल का पहला सूर्य ग्रहण लगा था और अब आने वाली 15-16 मई के दिन चंद्र ग्रहण लगेगा. यह चंद्र ग्रहण वैशाख मास में लगने वाला है और यह पूर्ण चंद्र ग्रहण (Lunar Eclipse) होगा, लेकिन दिलचस्प बात यह है कि इस चांद का रंग लाल होगा यानी यह खून सरीखे (Blood Moon) लाल रंग का दिखाई देगा. आइए, इस चंद्र ग्रहण से जुड़ी कुछ जरूरी बातों पर नजर डालें. 

यह भी पढ़ें

पूर्ण चंद्र ग्रहण 2022 | Total Lunar Eclipse 2022 

  • सौरमंडल (Space) में सूर्य, पृथ्वी और चांद के एकदूसरे के समानांतर होने पर चंद्र ग्रहण लगता है. चांद पृथ्वी की परछाई में आने लगता है और चांद का सिल्वर ग्रे रंग दबे हुए संतरी और लाल रंग में बदल जाता है. इसके बाद यही प्रक्रिया विपरीत रूप से होती है और चांद एकबार फिर पहले जैसा नजर आने लगता है. 16 मई के दिन भी यही प्रक्रिया होगी और इस पूरी प्रक्रिया में लगभग 5 घंटे और 20 मिनट का समय लगेगा. 
  • यह चंद्र ग्रहण उत्तरी अमेरिका, लाटिन अमेरिका, पश्चिमी यूरोप, अफ्रीका के कुछ हिस्सों और पूर्वी प्रशांत महासागर में दिखाई देगा और इसका रंग लाल होगा. 
  • 15 मई की शाम को यह चंद्र ग्रहण लगेगा और 16 मई (16 May) की सुबह तक दिखाई देगा. 
  • इससे पहले लगभग एक साल पहले पूर्ण चंद्र ग्रहण लगा था. 
  • ग्रहण की रात को चांद अपने सामान्य आकार से लगभग 12 फीसदी बड़ा दिखाई देगा. लेकिन, एकदम ध्यान से देखने वालों को ही यह दिख सकेगा. 
  • 15-16 मई अंधकार से भरा हो सकता है, लेकिन चांद के आसपास हल्की रोशनी नजर आएगी. चांद की इस रोशनी से देखने वालों को समर मिल्की वे (Summer Milky Way) भी दिख सकता है. 

चंद्र ग्रहण की धार्मिक मान्यता 

इस चंद्र ग्रहण की धार्मिक मान्यता की बात करें तो धर्मशास्त्रों में चंद्र ग्रहण को अत्यधिक महत्वपूर्ण माना जाता है. यूं तो भक्त इस दिन सूतक काल को मानते हैं लेकिन भारत में नजर ना आने के चलते किसी तरह का सूतक काल (Sutak Kaal) मान्य नहीं होगा. भारत में इस चंद्र ग्रहण की शून्य दृश्यता के कारण ऐसा होगा. 

इस साल कुल 4 ग्रहण लगने वाले हैं जिनमें से 2 सूर्य और अन्य 2 चंद्र ग्रहण (Lunar Eclipse) माने जा रहे हैं. साल का आखिरी चंद्र ग्रहण नवंबर में लगेगा. 

(Disclaimer: यहां दी गई जानकारी सामान्य मान्यताओं और जानकारियों पर आधारित है. एनडीटीवी इसकी पुष्टि नहीं करता है.)

ज्ञानवापी मस्जिद और श्रृंगार गौरी मंदिर मामले में एक और प्रार्थना पत्र दाखिल, कल भी होगी सुनवाई

More from FaithMore posts in Faith »

Be First to Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Mission News Theme by Compete Themes.